हमारा लोगो अपनी वेबसाइट या वेबलॉग में रखने के लिए निम्न लिखित कोड कापी करें और अपनी वेबसाइट या वेबलॉग में रखें
419321

اللَّهُمَّ کُنْ لِوَلِیِّکَ الحُجَةِ بنِ الحَسَن، صَلَواتُکَ علَیهِ و عَلی آبائِهِ، فِی هَذِهِ السَّاعَةِ وَ فِی کُلِّ سَاعَةٍ، وَلِیّاً وَ حَافِظاً وَ قَائِداً وَ نَاصِراً وَ دَلِیلًا وَ عَیْناً، حَتَّى تُسْکِنَهُ أَرْضَکَ طَوْعاً وَ تُمَتعَهُ فِیهَا طَوِیلا
किताबे ’’ सहीफ़ये मेहदीया ‘‘ इमाम-ए-ज़माना (अज्जलल्लाहु फरजहुश्शरीफ) को पहचानने के लिए एक बेहतरीन किताब
हज़रते अब्बास अलैहिस्सलाम का चमत्कार
हज़रते रोक़य्या (सलामुल्लाहे अलैहा)
हज़रत बक़ियतुल्लाह अरवाहोना फ़िदाह से तवस्सुल
हज़रत उम्मुल बनीन सलामुल्लाहे अलैहा से
हज़रत इमाम-ए-ज़माना अज्जलल्लाहु
मेरा दिल ख़ून है
बरकत वाला पैसा ।
प्रतीक्षा; और संसार की आशा की ओर
पहचान के रास्ते
किताबे सहीफ़ये मेहदिया का परिचय
किताबे “ सहीफये मेहदिया ” इमाम-ए-ज़माना
इमाम-ए-ज़माना अज्जलल्लाहु फरजहुश्शरीफ के ज़हूर की प्रार्थना
किताबे ’’ सहीफ़ये मेहदीया ‘‘ इमाम-ए-ज़माना
ज़ाकिरों (प्रवचकों) का नाम हज़रत फ़ातिमा ज़हरा(स0अ0) की सूची में
इस्लामी कैलेन्डर्
अव्वल शव्वाल 1443
1 शव्वाल
1-ईदे फ़ित्र 2-अम्रे आस हलाक हुआ। 3-क़ौमे आद की हलाकत।
3 शव्वाल
1-ख़न्दक़ की जंग। ( 5 हि0 क़0 )
4 शव्वाल
1-ग़ैबते कुबरा की शुरुआत। ( 329 हि0 क़0 )
5 शव्वाल
1-हज़रत अली अ0 सिफ़्फ़ीन की जंग के लिए निकले। 2-जनाबे मुस्लिन कूफ़ा पहुँचे। ( 60 हि0 क़0 ) 3-हज़रत अली अ0 ने सूरज को पलटाया। ( 36 हि0 क़0 )
6 शव्वाल
1-हुनैन की जंग। ( 8 हि0 क़0 )
7 शव्वाल
1-ओहद की जंग। ( 3 हि0 क़0 )
8 शव्वाल
1-जन्नतुल बक़ीय में अय्यम की क़ब्रों को ढाया गया। ( 1344 हि0 क़0 )
10 शव्वाल
1-हज़रत इमाम रज़ा अ0 मर्व पहुँचे। ( 201 हि0 क़0 )
15 शव्वाल
1-जंगे ओहद और हज़रत हमज़ा की शहादत। ( 3 हि0 क़0 ) 2-हज़रत अब्दुल अज़ीम हसनी का देहांत जो इमाम हसन अ0 की नस्ल से हैं। ( 252 हि0 क़0 ) 3-फ़ज़ीख़ नाम की मस्जिद में हज़रत अली अ0 ने सूरज को पलटाया अब वो मस्जिद रद्दे शम्स के नाम से प्रसिद्ध है। 4-बनी क़ैनक़ा की जंग। ( 2 हि0 क़0 )
17 शव्वाल
1-अबा सल्त हरवी का देहांत। ( 207 हि0 क़0 ) 2-ख़न्दक़ की जंग। जिसको अहज़ाब भी कहते है। ( 5 हि0 क़0 )
20 शव्वाल
1-हज़रत इमाम मूसा काज़िम अ0 को मदीने से इराक़ भेजा गया। (तड़ीपार किया गया)। ( 179 हि0 क़0 )
25 शव्वाल
1-इमाम जाफ़रे सादिक़ अ0 की शहादत। ( 148 हि0 क़0 )
आज के साइट प्रयोगकर्ता : 1113
कल के साइट प्रयोगकर्ता : 3752
कुल ख़ोज : 87486698
कुल ख़ोज : 68303171